सिटी जगत

मुख्यमंत्री का भ्रमण कार्यक्रम

छिंदवाड़ा जगत।  प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ जी 20 नवंबर को प्रात: 9 बजे विशेष विमान से दिल्ली से प्रस्थान कर प्रात: 10:30 बजे छिन्दवाड़ा आयेंगे और स्थानीय कार्यक्रम में भाग लेंगे ।

मुख्यमंत्री श्री नाथ जी दोपहर 12:30 बजे स्वर्गीय श्रीमती इंदिरा गांधी के प्रतिमा अनावरण कार्यक्रम

तथा दोपहर 12:50 बजे मेडिकल कॉलेज छिन्दवाड़ा में सुपर स्पेशियलिटी हॉस्पिटल भवन के भूमिपूजन कार्यक्रम में भाग लेने के बाद दोपहर 2:15 बजे छिन्दवाड़ा से विशेष विमान से भोपाल के लिये प्रस्थान करेंगे ।

मुख्यमंत्री की फोटो वाले होर्डिंग हटाए नगर निगम ने

छिन्दवाड़ा जगत। अवैध होर्डिंग के खिलाफ जारी अभियान के तहत गुरुवार को नगर निगम अमले ने शहर में मुख्यमंत्री कमलनाथ की फोटो लगे अवैध होर्डिंग्स भी हटाए जिला कांग्रेस कार्यालय के सामने ही कार्रवाई करते हुए नगर निगम अमले ने यहां से दो बड़े होर्डिंग हटाए गौरतलब है कि पिछले दिनों मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था कि अवैध होर्डिंग के खिलाफ प्रदेश में बड़े पैमाने पर कार्रवाई की जाएगी मुख्यमंत्री ने यहां तक यह भी कहा था कि अधिकारी उन अवैध होल्डिंग पर भी कार्रवाई करें जिनमें मेरी फोटो क्यों ना लगी हुई हो इन आदेशों के बाद नगर निगम अमला शहर में अलग अलग स्थानों पर लगातार कार्रवाई कर रहा था । गुरुवार को जिला कांग्रेस कार्यालय के अलावा इंदिरा तिराहा , खजरी रोड , पुलिस ग्राउंड के सामने लगी बड़ी-बड़ी अवैध होर्डिंग भी हटाई गई निगम ने शहर के अलग-अलग स्थानों पर इस कार्रवाई को अंजाम दिया ।

छिन्दवाड़ा नगरीय क्षेत्र के 9 स्थानों पर राजस्व वसूली शिविर का आयोजन 9 नवंबर को

छिंदवाड़ा जगत।  जिले की तहसील छिन्दवाड़ा के नगरीय क्षेत्रों में आने वाले 9 स्थानों पर 9 नवंबर को राजस्व वसूली शिविरों का आयोजन किया गया है । संबंधित क्षेत्र के नागरिक इन शिविरों में पहुंचकर देय राजस्व राशि जमा करने के साथ ही राजस्व संबंधी अन्य जानकारी प्राप्त कर सकते हैं । राजस्व अनुविभागीय अधिकारी छिन्दवाड़ा श्री अतुल सिंह ने संबंधित क्षेत्र के पटवारियों को निर्देश दिये हैं कि वे 9 नवंबर को अपने प्रभार क्षेत्र में आने वाले ग्राम/मोहल्ले में आयोजित राजस्व वसूली शिविर में उपस्थित रहकर वसूली करना सुनिश्चित करें ।
राजस्व अनुविभागीय अधिकारी छिन्दवाड़ा श्री सिंह ने बताया कि तहसील छिन्दवाड़ा के नगरीय क्षेत्र शिवनगर कॉलोनी में श्री रेशम पवार, लोनियाकरबल में श्री सुरेश सूर्यवंशी, पुराना पंचायत भवन लहगड़ुआ में श्री सोहनसिंह वर्मा, परतला में श्री शरद सूर्यवंशी, जोन कार्यालय चंदनगांव में श्री भरत सूर्यवंशी, सोनाखार में श्लाश माहोरे, पोआमा चौक  साबिर खान, खापाभाट में सुश्री खुशबू साहू और रामगढ़ी में सुश्री रीता भादे को राजस्व शिविर में उपस्थित होकर राजस्व वसूली करने के निर्देश दिये गये हैं ।

युवा कांग्रेस आदिवासी प्रकोष्ठ के द्वारा चलाई जा रही विकास यात्रा पहुंची शैक्षणिक संस्थानो में ।

छिंदवाडा जगत।  युवा कांग्रेस आदिवासी प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष आशीष कुमरे ने बताया कि माननीय कमलनाथ जी एवं नकुल नाथ जी के द्वारा कराए गए विकास कार्य को लेकर आज जिले के विभिन्न शैक्षणिक संस्थानों में पहुंचा गया और छात्र-छात्राओं को इसके विस्तृत जानकारी दी गई ।
आगे आशीष कुमरे ने बताया की यह विकास यात्रा जिले के सभी शैक्षणिक संस्थान तक ले जाया जाएगा और माननीय नकुल नाथ जी एवं कमलनाथ जी के द्वारा कराए गए विकास कार्यों की जानकारी हर व्यक्ति तक पहुंचाया जाएगा और आगे आशीष कुमरे  ने बताया की इस यात्रा को विभिन्न चरणों में चलाया जाएगा इस यात्रा को लेकर शैक्षणिक संस्थान शासकीय कार्यालय शहर के विभिन्न वार्डों में ग्रामीण क्षेत्रों तक ले जाया जाएगा।

आदिम-जाति कन्या छात्रावास भवन के लिये 50 करोड़ मंजूर

हर साल 40 हाई स्कूल हायर सेकेण्डरी स्कूल में अपग्रेड होंगे
छिन्दवाड़ा

प्रदेश में इस वर्ष आदिम-जाति कल्याण विभाग द्वारा 23 कन्या छात्रावासों के लिये नये भवन बनाने का निर्णय लिया गया है। इनमें 15 सीनियर कन्या छात्रावास और 8 महाविद्यालयीन छात्रावास भवन शामिल हैं। इसमें छिन्दवाड़ा जिले के अमरवाड़ा का महाविद्यालयीन कन्या छात्रावास का नया भवन शामिल है। भवन बनाने के लिये करीब 50 करोड़ रुपये मंजूर किये गये हैं। प्रत्येक छात्रावास के नये भवन के लिये 2 करोड़ 20 लाख रुपये स्वीकृत किये गये हैं। विभाग ने हर साल 40 हाई स्कूल को हायर सेकेण्डरी स्कूल में अपग्रेड करने का भी निर्णय लिया है।

छिन्दवाड़ा

गोंगपा पदाधिकारीयों ने कलेक्टर एस पी से की मुलाकात

गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रतिनिधि मंडल ने विभिन्न मुद्दों को लेकर जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक से मुलाकात की
छिंदवाड़ा ।गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रदेश महासचिव सतीश नागवंशी के नेतृत्व में जनहित के मुद्दों को लेकर जिला कलेक्टर श्री सौरव कुमार सुमन एवं जिला पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल से मुलाकात किया ,पांच सदस्यीय टीम में जिला अध्यक्ष प्रकाश कुमरे ,जिला अध्यक्ष का.कपिल सोनी एवं आईटी सेल जिला अध्यक्ष सुभाष बेलवंशी उपस्थित थे ।

अ.भा.गो.पा. हुई दिशाहीन ड्राइवर और गनमैन चला रहे पार्टी

छिंदवाड़ा। अमरवाड़ा विधानसभा से विधायक रहे मनमोहन शाह बट्टी जो सन 2003 में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के टिकट पर पहली दफा चुनाव जीते थे, बताया जाता है कि बट्टी को चुनाव जिताने में दादा हीरा सिंह मरकाम की विशेष भूमिका रही थी । उस दरमियान मध्यप्रदेश के गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के अध्यक्ष गुलजार सिंह मरकाम हुआ करते थे, गोंडवाना समग्र क्रांति आंदोलन से जुड़े हुए सूत्र बताते हैं कि मनमोहन शाह बट्टी को चुनाव जिताने के लिए आदिवासी समाज ने अनाज और पैसा इकट्ठा किया था ।

और मनमोहन शाह बट्टी को चुनाव लड़ाया और जितवाया भी था बताया जाता है कि उसके बाद मनमोहन शाह बट्टी जो उस समय गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के विधायक दल के नेता हुआ करते थे और इनके साथ 2 और भी विधायक सिवनी जिला की घंसौर आदिवासी सीट से रामगुलाम  उईके और बालाघाट की परसवाड़ा सामान्य सीट से दरबूसिंह उईके गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के विधायक हुआ करते थे ।

बताया जाता है कि मनमोहन शाह बट्टी ने दादा हीरा सिंह मरकाम जो राष्ट्रीय अध्यक्ष गोंडवाना गणतंत्र पार्टी थे उनको बगैर सूचना दिए राज्यसभा चुनाव में अपना और अपने साथियों का वोट देने की सौदेबाजी कर लिया था ,उसी के बाद मनमोहन शाह बट्टी और दादा हीरा सिंह मरकाम में दरार आ गई और मनमोहन शाह बट्टी अपने आप को सुपर पावर समझने लगे और आए दिन दादा मरकाम को नीचा दिखाने की कोशिश करने लगे, इससे आहत होकर दादा मरकाम ने 2008 के चुनाव में मनमोहन शाह बट्टी का टिकट काटकर सिंगोड़ी से शिक्षक रहे सी एल ठाकुर को टिकट दे दिया इसके बाद मनमोहन शाह बट्टी जीवन में कोई चुनाव नहीं जीत पाए ।

बताया जाता है कि उसके बाद उनके वकील मित्र के साथ मनमोहन शाह बट्टी ने राष्ट्रीय गोंडवाना पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ा और इसके बाद उनको  हार का सामना करना पड़ा ,इसके बाद उन्होंने अपनी अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी का निर्माण किया और उससे भी चुनाव उन्होंने लड़ा लेकिन सफलता नहीं मिली इसके बाद कोरोना महामारी की चपेट में आकर मनमोहन शाह बट्टी का दुखद निधन भोपाल में हो गया ।

इसके बाद उनकी बेटी मनमोहन शाह बट्टी की बेटी मोनिका भट्टी इस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष बनी मगर समाज ने उनको अध्यक्ष स्वीकार नहीं कर पाया और उनका विरोध होने लगा सीनियर नेता पूरे गोंडवाना गणतंत्र पार्टी में चले गए और उनकी ऐसी हालत हो गई कि मनमोहन शाह बट्टी के गनमैन एसआर बौद्ध राष्ट्रीय महासचिव हो गए और उनके ड्राइवर और उनका स्टाफ पार्टी चलाने की सोचने लगा इसलिए अखिल भारतीय गोंडवाना पार्टी का नामोनिशान मिट सा गया है ।

कृषि कानून वापस ले सरकार :गोंगपा

कृषि कानून वापस ले मोदी सरकार ,न्यूनतम समर्थन मूल्य तय हो :गोंगपा*
छिंदवाड़ा गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के कार्यवाहक जिला अध्यक्ष कपिल सोनी ने बताया कि केंद्र सरकार द्वारा किसानों के खिलाफ पारित किए गए तीन कृषि बिल वापस लेने के संबंध में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रदेश महासचिव सतीश नागवंशी के नेतृत्व में तमाम पदाधिकारियों की उपस्थिति में राष्ट्रपति के नाम कलेक्टर छिंदवाड़ा को ज्ञापन सौंपा गया जिसमें मुख्य मांग किसान कानून वापस लिया जाए और न्यूनतम समर्थन मूल्य एम. एस. पी. लागू की जाए ,बिजली बिल संशोधन विधेयक वापस लिया जाए ,पराली जलाने वाले कानून को वापस लिया जाए ,सहित अन्य किसान हित के मुद्दों को लेकर आज किसानों के सम्मान में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने ज्ञापन दिया जिसमें मुख्य रुप से जिला कार्यवाहक अध्यक्ष कपिल सोनी, जिला सोशल मीडिया विभाग के अध्यक्ष सुभाष बेलवंशी ,अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ के अध्यक्ष डेनी गोहीआ ,परासिया विधानसभा अध्यक्ष रंजीत मर्सकोले ,छिंदवाड़ा विधानसभा अध्यक्ष आकाश उईके, अरुण उईके, चाँद ब्लॉक अध्यक्ष बाराती लाल उईके, सूरज भलावी,रूपेश डेहरिया, सचिन राजपूत, राजा भलावी, जितेंद्र उईके, छोटेलाल इवनाती, वीरेंद्र उईके, अशेन्द्र उईके, अजय विश्वकर्मा, दिनेश गिरी, एवं शिवकुमार वाड़ीवा सहित जिले के तमाम पदाधिकारी उपस्थित थे

चांद थाने का मोह नहीं छूट रहा ,पुलिस कर्मियों को

हो गया ट्रांसफर मगर जॉइनिंग नहीं ले रहे पुलिस कर्मी, बताया जाता है रेत तस्करों के साथ हैं मधुर संबंध
जी हां जिले के थाना चांद के अंतर्गत 3 पुलिस आरक्षक राजकुमार सनोडिया आरक्षक का स्थानांतरण पुलिस थाना चाँद से पुलिस थाना अमरवाड़ा और जितेंद्र बघेल आरक्षक का पुलिस थाना चाँद से पुलिस थाना हर्रई सूर्योदय बघेल आरक्षक पुलिस थाना चाँद से पुलिस चौकी पिप्लानारायनवार इस प्रकार इनका स्थानांतरण लगभग तीन माह पूर्व हो चुका है लेकिन राजनेतिक दबाव के कारण यह आदेश को दरकिनार करते हुए यहीं पर जमे हुए हैं ओर बताया जाता है कि , उनका स्थानांतरण लगातार मिल रही शिकायतों के कारण जिला पुलिस अधीक्षक द्वारा किया गया था सूत्र यह भी बताते हैं कि इनके रेत तस्करों के साथ मधुर संबंध भी चर्चा का विषय है मोटी रकम की आमदनी रेत तस्करों के साथ होने को लेकर भी है यह चांद थाने का मोह छोड़ने को राजी नहीं है ।

कमलनाथ के प्रति ऐसा लगाव कि ,त्याग दिया प्राण

छिंदवाड़ा / आखिर मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार गिरने का इतना भी सदमा हो सकता है ??? ? यह बात किसी ने नहीं जाना था इसी बात को बयां करती हुई यह खास रपट है ।………
श्री प्रभाकर रामाजी खड़क्कार
का निधन 5 अप्रैल 2020 उनके निवास स्थान चन्दनगांव जिला छिंदवाड़ा में हुआ…..

श्री खड़क्कार जी पोस्ट ऑफिस में पोस्ट मास्टर के पद पर ग्राम पंचायत सावरी में कार्यरत और रिटायर भी वहीं से हुए रिटायर होने के बाद उन्होंने माननीय कमलनाथ जी की कार्यशैली से प्रभावित होकर कांग्रेस पार्टी से जुड़े और कमलनाथ जी के साथ मिलकर क्षेत्र की समस्याओं का निवारण भी किया है माननीय कमलनाथ जी के प्रति उनकी एक अलग ही प्रकार की दीवानगी थी कमलनाथ जी से उनका काफी लगाव था वह अक्सर न्यूज़ चैनल देखा करते थे उसमें देश दुनिया की जानकारी उन्हें मिलती थी 14-15 मार्च को भी उन्होंने न्यूज़ चैनल पर कमलनाथ जी की सरकार के बारे में जो जानकारी मिली उससे उनका ब्लड प्रेशर बढ़ने पर और लगातार घटनाक्रम के कारण 18 तारीख की रात को ब्लड प्रेशर अत्यधिक बढ़ चुका था जिसके कारण उन्हें छिंदवाड़ा जिला हॉस्पिटल में भर्ती करवाया गया फिर उन्हें नागपुर हॉस्पिटल ले जाया गया 19 तारीख से 26 तारीख तक वहां नागपुर में ही भर्ती रहे 26 तारीख को जब हॉस्पिटल से घर पहुंचे और उन्हें जानकारी मिली कि कमलनाथ मुख्यमंत्री पद पर नहीं है तो वह अचंभित रह गए और अंतिम समय में भी वह माननीय कमलनाथ जी के मुख्यमंत्री पद से हटने के सदमे में अपने प्राण त्याग दिए…..।

उन्होंने अपने अंतिम समय पर अपने अंतिम शब्दों में सिर्फ इतना ही कहा कि छिंदवाड़ा जिले को ऐसा नेता फिर कभी दोबारा नहीं मिलेगा…..।

मृतक के पुत्र संजय खड़क्कार उर्फ संजू भाऊ भी सेवादल के बहुत ही सक्रिय कार्यकर्ता हैं ,उन्होंने बताया कि जितनी पूंजी थी लगभग 3 से 4 लाख रुपए उन्होंने पिता जी के इलाज में लगा दिया, उन्हें कमलनाथ या नकुलनाथ की तरफ़ से किसी तरह का सहयोग नहीं मिल सका ,यहां तक कि उनके द्वारा सांसद एवं पूर्व मुख्यमंत्री से कई बार सम्पर्क करने की कोशिश की गई मगर लाकडाउन की वजह से या जो भी वजह थी सम्पर्क नहीं हो पाया न ही उनके पी .ए .ने फोन नहीं उठाए ,पिता की मृत्यु के बाद में सांसद या विधायक कार्यलय से कोई कॉल तक नहीं आया ,जो दुःखद है ।

कमलनाथ के चक्कर में सुभाष का बीपी लो हुआ तो पंकज का बीपी हाई ।…… 
जी हां यही कारण था कि सांवरी से ही कांग्रेस के कद्दावर नेता और वर्तमान जनपद सदस्य पंकज पाठक भी कमलनाथ के मुख्यमंत्री पद से हटने की बात को लेकर इतना सदमें मैं आ गए कि उनका 20 मार्च को अचानक से हाई ब्लड प्रेशर हो गया ,वह उस समय उनके ससुराल अंबाडा मैं थे उन्हें भी तत्काल भर्ती कराया गया वह भी लगभग सप्ताह भर के बाद में उनके स्वास्थ्य के में सुधार हुआ ,और पंकज इस लॉक डाउन की वजह से अभी भी वहीं अम्बड़ मैं ही स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं ।
यही हाल परासिया ब्लॉक के कुंडाली कला निवासी सुभाष बेलवंशी का भी हो गया है ,दरअसल सुभाष सोसल मीडिया में लगातार सक्रिय रहते हैं और वह कांग्रेस की विचारधारा से इतने ज्यादा प्रभावित है कि वह कई बार लोगों से तर्क के आधार पर उलझ भी जाते हैं इनका संगठन में पद भी है यह उमरेठ ब्लॉक कांग्रेस के अनुसूचित जाति विभाग में अध्यक्ष के साथ ही आई टी सेल के जिला महासचिव भी हैं ,यह अपने साथी नेताओं क्रमशः सतीश नागवंशी, प्रदीप राय, आतिश ठाकरे के साथ 18 मार्च को भोपाल गए हुए थे इन्होंने समूचे घटनाक्रम को करीब से देखा ,20 मार्च को जैसे ही कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया सुभाष का ब्लड प्रेशर अचानक से कम हो गया वह जैसे तैसे छिंदवाड़ा आये 2 दिन बाद उनकी तबीयत बिगड़ गई उनके ही रिश्तेदार सतीश नागवंशी ने तुरंत 108 मैं कॉल कर एम्बुलेंस भिजवाया और उनका छिंदवाड़ा मैं समुचित इलाज करवाने के बाद में उनकी दवा खरीदने के बाद उन्हें उनके गांव स्वयं के वाहन से छोड़कर आये ।
अभी भी उनकी तबीयत नासाज बनी रहती है ।

जूनारदेव

मुख्यमंत्री कमलनाथ जी के जन्मदिन के अवसर पर रक्तदान शिविर का आयोजन

छिंदवाडा जगत। जुन्नारदेव- मध्यप्रदेश के मुखिया मा. कमलनाथ जी के जन्मदिवस पर एन एस यू आई जरूरतमंद लोगो के लिए शासकीय महाविद्यालय प्रांगण में रक्त दान शिविर लगा कर मनाया जा रहा है . इस रक्तदान शिविर के विषय मे विधानसभा अध्यक्ष आदित्य उपाध्याय ने बताया कि रक्तदान के लिए सभी को जागरूक होना चाहिए और ख़ास कर सक्षम लोगो को बढ़-चढ़ कर रक्तदान और वृक्षारोपण जैसे अनेको काम अपने व् अपने परिवार के जन्मदिन जैसे अवसर पर जरूर करना चाहिए. रक्तदान स्वास्थ्य के लिए बेहतर होता है. रक्तदान से नए ब्लड सेल्स तेजी से बनते हैं. दरअसल रेड सेल्स की लाइफ 90 दिन ही होती है. रेड सेल बनने की प्रक्रिया सतत चलती रहती है. अत: रक्तदान करने से शरीर में रेड सेल की कोई कमी नहीं होती. साल में तीन से चार बार ब्लड डोनेट करने से रक्त में गाढ़ापन नहीं आता है

इससे हार्टअटैक और कोलेस्ट्रॉल जैसी कई समस्याओं में फायदा होता है. हमारे इस छोटे से प्रयास से किसी जरूरतमंद का जीवन बच सकता है. हमारे द्वारा डोनेट ब्लड दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति, गर्भवती महिला, थैलेसीमिया और गंभीर रूप से बीमार लोगों का जीवन बचाने में मददगार होगा।

सुनील उइके के खिलाफ हो रही साजिश

जुन्नारदेव /   छिन्दवाड़ा  जिले की जुन्नारदेव विधानसभा से पूर्व में कांग्रेस के विधायक प्रत्याशी रहे सुनील उइके के खिलाफ जो गुटबाजी निकल कर सामने आ रही है , उसमे कही न कही राजनीतिक साजिश की बू आ रही है ।

बताया जाता है की कल तक जो लोग सुनील उइके को सर्वमान्य नेता मानते थे आज वही नेता सुनील के विरोध में सीना तान कर खड़े दिखाई दे रहे है ,जुन्नारदेव जनपद पंचायत के पूर्व अध्यक्ष राजेंद्र उइके जो कल तक सुनील के चेला हुआ करते थे आज बताया जाता है की यही राजेंद्र आज सुनील उइके के खिलाफ चिल्लर लोगों को एक करने में सबसे आगे बताये जाते है , बहर हाल राजेंद्र उइके जब जनपद अध्यक्ष थे तब इनका कार्यकाल भी कोई संतोषजनक नहीं रहा है यह कार्यकाल विवादों से भरा रहा है जानकार बताते है की राजेंद्र उइके जब जनपद अध्यक्ष थे तब इनका घर का झगड़ा कई बार जनपद की सामान्य सभा की बैठकों में इनकी पत्नी इनकी झकर उतार दिया करती थी ,इस प्रकरण ने राजेंद्र की राजनीती को विराम सा लगा दिया, परिणाम स्वरुप वे आज अध्यक्ष से सदस्य तक ही सीमित रह गए है

बताया जाता है की आज यही लोग सुनील की दावेदारी का विरोध करते हुए कहीं बैठकें तो कभी मंदिरों के दर्शन करते हुए कांग्रेस को जितने की पोस्ट शोसल मीडिया में पोस्ट कर रहे है ,ताकि इस बार ऐन केन प्रकारेण सुनील उइके का पत्ता साफ़ हो जाये अब देखना यह होगा की राजनीती में कभी जिले की युवा वर्ग एवं आदिवासी समुदाय का सिरमौर रहे सुनील जो सबको साधने में भी माहिर है,अब देखना होगा कि वो अपना समीकरण इस बार फिर से कैसे साधने में सफल हो पाते है, दिल्ली दरबार से जुड़े हुए सूत्र तो यही बताते है की सुनील को कमलनाथ ने तैयारी करने को कहा है ।

इसी क्रम में सुनील तेजी से और तेजिलाल से ज्यादा तैयारी कर रहे हैं भले ही कोई कुछ कहे मगर सुनील कम समय में ज्यादा उन्नति करने वालों में से एक हैं ।

मोहखेड़ सौसर

तेजगति डंपर ने आटो को रौंदा, घटनास्थल पर 2 कि मौत….

छिंदवाड़ा-बैतूल हाइवे मार्ग पर आज सुबह करीबन 8 बजे आटो और डंपर में भीषण टक्कर,आटो में सवार 2 लोगो कि मौत और डंपर में सवार चालक मौके से फरार…जिले भर में सडक दुर्घटना में बेकसूर लोगो की जान कीड़ो मकोडो की तरह जा रही है .बाबजूद इसके जिला प्रशासन और यातायात विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने बेशर्मी की दुशाल ओड रखी है ? जिससे इन्हे ना तो कुछ दिखाए पड़ता है और ना ही बेकसूर मर रहे लोगो के परिजनों के क्रन्दन की दर्द भरी आवाजे इनके सोये हुए जमीर को जगाने में कामयाब हो रही है ?

समय समय पर खाना पूर्ती के लिए ये जिम्मेदार होने का स्वांग रचाते है फिर बहरुपिये की तरह दूसरा रूप धारण कर जनता का ध्यान बाँटने में जुट जाते है ! ठीक इस दुर्घटना से 1 दिन पहले इन जिम्मेदार लोगो ने बस एसोसिएशन के लोगे है साथ कुछ देर का ड्रामा किया और यह अहसास दिलाने का प्रयास किया की हमे जिम्मेदारी का अहसास ! आखिर कब तक और इस जिले में है कोई माई का लाल अधिकारी जो इनके सोये हुए जमीर को जगाने का दुस्साहस के सके ?

जानकारो के मुताबिक  पुलिस डायल 100 वाहन पहुंचकर दोनो मृतक के शव को वाहन में रखकर पीएम के लिए मोहखेड अस्पताल भेजा गया.
पुलिस डायल वाहन में उमरानाला पुलिस चौकी में पदस्थ आरक्षक राजकिशोर बघेल ने बताया कि ग्राम खुनाझिरकला के अंतर्गत सेमरढाना गांव निवासी महेश पिता लच्छी उम्र 50 वर्ष जो रोजाना कि तरह अपनी आटो में दूध लेकर जा रहा था.वही आटो में एक अन्य सवार साथी ग्राम नरसला का ओम पिता गोविन्द चंद्रवंशी उम्र 42 वर्ष वाहन में बैंठा हुआ.तभी सामने से साई पालकी कंपनी का रेत से भरा बेलगाम तीव्र गति डंपर ने टक्कर मार दी.इस तरह भीषण टक्कर से आटो में सवार आटो चालक एंव अन्य सवार एक साथी की घटनास्थल पर मौत हो चुकी थी.इस टक्कर के बाद डंपर में सवार चालक फरार हो गया .फिलहाल मोहखेड पुलिस द्वारा डंपर चालक के खिलाफ अपराध कायम मामले की जांच कर रही है.
दरअसल बात कि जाये तो छिंदवाड़ा-बैतुल के इस मार्ग पर ईमलीखेडा से लेकर सावरीबाजार तक सड़क के दोनो ओर दर्जनो गिट्टी क्रेसर और अवैध उत्खनन कि खदाने है जहा से हर चंद मिनट में ओवरलोड डंपर-ट्रक और ट्रेक्टर बेलगाम तीव्र गति से भागते है.इस तरह बेलगाम तीव्र गति से भागते ओवरलोड वाहनो से आये दिन दुर्घटनाओ कि खबर मिलती रहती है.इस तरह हो रही दुर्घटनाओ को लेकर क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने मोहखेड थाना प्रभारी से तत्काल सड़क पर दौड़ रहे तीव्र गति बेलगाम डंपर,ट्रक और ट्रेक्टरों जैसे वाहनो पर उचित कार्रवाई कर अंकुश लगाने कि मांग की है.

प्रकरण समाप्त करने हुए निर्देश

पंजीकृत श्रमिक व बी.पी.एल. श्रेणी के विद्युत उपभोक्ताओं के विशेष
न्यायालय में दर्ज प्रकरण समाप्त करने की कार्यवाही प्रस्तावित

छिन्दवाडा/ मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना के अंतर्गत पंजीकृत श्रमिक व बी.पी.एल. श्रेणी के वे उपभोक्ता जिन पर विद्युत बिल की राशि बकाया होने से विद्युत कनेक्शन स्थायी अथवा अस्थायी रूप से विच्छेदित किया गया है और जिन पर वितरण कंपनी द्वारा विद्युत अधिनियम की धारा 126, 135 एवं 138 के अंतर्गत विशेष न्यायालय में प्रकरण दर्ज किया गया है, इन सभी प्रकरणों को समाप्त करने की कार्यवाही प्रस्तावित है । ऐसे उपभोक्ता जो मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना में पंजीकृत श्रमिक व बी.पी.एल. श्रेणी के है और जिन पर विद्युत अधिनियम की धारा 126, 135 एवं 138 के अंतर्गत विशेष न्यायालय में प्रकरण दर्ज किया गया हो, वे संबंधित वितरण केंद्र/संभागीय कार्यालय में श्रमिक आई.डी. व बी.पी.एल. श्रेणी के प्रमाण पत्र तथा पंचनामा, निर्धारण आदेश, नोटिस या विद्युत देयक की छायाप्रति के साथ संपर्क कर सकते हैं ।

You’ll also need to get an notion of the way you typing page online would like to make your company grow so you can sell more products.

There are several unique reasons why this may be needed, but one of the chief reasons is because many of the can someone write my essay for me functions can be exceedingly long, particularly if they’re a report, or a selection of articles.